place Current Pin : 822114
Loading...


मेरे सपनों का झारखंड

location_on गढ़वा access_time 15-Nov-21, 09:07 AM

👁 653 | toll 264



Mubarak Ansari N/A star
Public

14 नवंबर की आधी रात झारखंड ने बिहार को अलविदा कह दिया। सन 2000 को महान बिरसा मुंडा के जयंती दिवस के पावन बेला को झारखंड राज्य का गठन हुआ। उपेक्षा, शोषण एवं अन्य पीड़ाए को भेदते हुए झारखंड का सूर्य आशा, अपेक्षा और उम्मीद की किरण लेकर उदित हुआ। झारखंड के निर्माण के पीछे तिलका माँझी, बिरसा मुंडा, चाँद-भैरव, सिंदू- कांहू, शेख भिखारी जैसे कई वीर शहीदों का सपना था। एक ऐसा सपना जिसमे झारखंडियो का उनका हक़ हकूक मिल सके एवं दीकुवों से छुटकारा मिल सके। प्रकृति से मिले वरदान स्वरूप खनिज सम्पदा, नदी, हरे भरे पेड़ों का भंडार पर झारखंडियो का हक़ हो और अपना राज्य उन्नति के पथ पर अग्रसर हो। आज 21 साल बाद झारखंड अभी भी वही खड़ा है। हमारा सपनों का झारखंड हासिये पर खड़ा है बड़ा अफसोस होता है ये जानकर की देश का सबसे अमीर राज्य होकर भी यहाँ सबसे ज्यादा ग़रीबी, बेरोजगारी, पलायन जैसे समस्या शीर्ष पर विधमान हैं। इस युवा झारखंड मे युवा आत्महत्या करने को मजबूर हैं JPSC, JSSC जैसे चयन विभागों में पारदर्शिता की कमी है, भ्रस्टाचार चरम पर पहुँच चुकी हैं। आए दिन रोज ही मोहरबादी मैदान में गलत चयन प्रकिर्या के विरुध में विरोध का सूर देखने को मिलता है। इन्हे तो विरोध करने का भी हक़ नही मिलता, इन पर लाठियाँ बरसाई जाती हैं। इस 21 साल के दौरान, चाहे भाजपा हो, जे एम एम हो, या काँग्रेस सब ने झारखंड को लूटने का किया। मैं ख़ुद निलाम्बार पीतांबर की धरती पलामू परगना से हूँ जहाँ न कल कारखाने हैं, न ही कोई रोजगार के अवसर। यहाँ पढ़े लिखे युवा दूसरे राज्य में पलायन होने को मजबूर हैं। मेरे सपनो का झारखंड बनाना अभी भी बाकी है, जब तक आदिवासी, दलित, पिछड़े वर्गो को उनके हक़, भूखे को अनाज, युवाओं को रोजगार नहीं मिल जाती मेरे पूर्वजो के अलग राज्य बनाने का सपना अधूरा है। युवाओं, समाजसेवी, विभिन्न सामाजिक संगठन एक होकर झारखंड के हित मे स्थानीय नीति बनाने को लेकर सरकार पर दबाव बनाने की आवश्यकता है। जब तक मेरे सपनों का झारखंड नहीं बन जाता तब तक उलगुलान जारी रहेगा। जोहार रहेगा🙏 मुबारक अंसारी युवा समाजसेवी, गढ़वा


Trending in related area :

#1
ग्राम चंदना में समाज सेवी मुजीब खान के द्वारा कब्रिस्तान से हरिजन टोला होते हुए चंदना प्राथमिक स्कूल तक मरम्मती का कार्य किया गया। ,

location_on चंदना, मंझिआंव
access_time 06-Aug-22, 08:49 PM
#2
#Pattern change

location_on Jcert
access_time 01-Dec-23, 02:31 PM
#3
दो दिन से रक्त के लिए परेशान महिला को रक्त उपलब्ध करा उनकी जान गुलाम ए हुसैन कमिटी सह हिंदू मुस्लिम एकता संघ के एहम सदस्य अख्तर रजा ने रक्त दान कर बचाई

location_on गढ़वा
access_time 23-Sep-21, 08:48 PM
#4
बिशुनपुरा में सप्तमी के दिन नवयुवक संघ महुली कला कमेटी के द्वारा भव्य कलश यात्रा निकाला गया।

location_on विशुनपुरा
access_time 21-Oct-23, 08:46 PM
#5
झारखंड के क्षेत्रीय फिल्मों और अलबम में काम करने वाली रिया उर्फ ईशा आलिया की राँची -कोलकाता मार्ग पर गोली मारकर हत्या

location_on Jharkhand
access_time 29-Dec-22, 12:04 PM


Post News & Earn


गूगल प्ले से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें। Get it on Google Play